Sunday, December 21, 2008

नारी जो..........


नारी जो है ....हर नर के जीवन मे
हर पथ पर साथ चलने वाली..........
जब मैंने लिया जन्म ..
थामा जिसका हाथ ..चलने को
जिसके स्पर्श ने दी मुझे ..दी ममता मुझे
वोह थी मेरी माँ ........
जब मै हुआ बड़ा ,
वोह जिसने मेरे साथ मेरा बचपन है बांटा ..
दी हर ख़ुशी मुझे
भर दी चेहरे पे मुस्कान
दिया अपने साथ हर पल ..
वोह थी मेरी ..जान से प्यारी बहन ...
नारी जो है ....हर नर के जीवन मे
हर पथ पर साथ चलने वाली.......... .........
जब मै गया अपनी ,
जीवन की प्रथम पाठशाल मै ,
मेरा पथ प्रदर्शन करने वाली
हर रहा को सुलझाने वाली ,
वोह थी मेरी पहली अध्यापिका .......
जब भी मै हुआ उदास जीवन
की राहों मे .......
आया जीवन मे जब भी कोई दुःख
मेरे हिम्मत बनी वोह ,
अपनी बातो से मेरा हौसला बढाया मेरा ..
जी मेरे दुःख से दुखी हुई
और सुख मे दी ..अपनी प्यारी मुस्कान ...
वोह थी मेरी जीवन संगनी .......
नारी जो है ....हर नर के जीवन मे
हर पथ पर साथ चलने वाली.......... ..............
मेरी हर सोच को थामने वाली ,
जिसके बचपन को देख,
मै फिर से बच्चा बना,
वोह थी मेरी दुलारी ,मेरी जान से भी प्यारी ,
मेरी बेटी ..........
नारी जो है ....हर नर के जीवन मे
हर पथ पर साथ चलने वाली..........

1 comment:

Preeti Mehta said...

बहोत खूबसूरती से नारी का महत्व समझा दिया आपने ....